दिल्ली

राजधानी दिल्ली में थमी कोरोना की रफ़्तार, रिकवरी रेट बढ़कर 79 फीसदी पहुंचा

Published

on

देशभर में कोरोना वायरस के दिनोदिन बढ़ते संक्रमण के बिच राजधानी दिल्ली से एक राहत भरी खबर सामने आई है. जहाँ कोरोना के मामले में बढ़त तो कम हुई ही है, साथ ही रिकवरी रेट में भी इजाफा देखने को मिला है. यानी कोरोना संक्रमित मरीज अब पहले के मुकाबले जल्दी पूर्णतः स्वस्थ होकर घर लौट रहे है.

पहले जहां राजधानी दिल्ली में औसतन 3 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे थे, तो वहीं अब पिछले 24 घंटे में महज 1,781 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 34 लोगों की मौत भी हुई है.

मालूम हो कि दिल्ली में कोरोना के कुल केस 1,10,921 हो गए हैं. वहीं, मृतकों की संख्या बढ़कर 3,334 हो गई है. राजधानी में कोरोना के एक्टिव केस भी 20 हजार से नीचे हो गए हैं. जहाँ कुल सक्रीय मामलों की संख्या 19,895 हैं.

राजधानी दिल्ली में कोरोना मामलों का रिकवरी रेट रिकॉर्ड बढ़कर 79% हो गया है. पिछले 24 घंटे में 2,998 लोग ठीक हुए हैं. जबकि अब तक 87692 लोग पूरी तरीके से ठीक हो चुके हैं. दिल्ली में 11,598 मरीज होम आइसोलेशन में है. पिछले 24 घंटे में 9,767 आरटी-पीसीआर टेस्ट हुए हैं तो वहीं 11,741 एंटीजन टेस्ट हुए हैं. दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 21,508 टेस्ट हुए हैं. अब तक 7,68,617 टेस्ट हो चुके हैं.

उधर, देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले बढ़कर 8,35,294 हो गये हैं. यही नहीं बल्कि देश में मृतकों की तादाद भी अब 22 हजार 339 हो गई है. देशभर में मरीजों की रिकवरी रेट राजधानी इतनी तो नहीं है. लेकिन अब तक 5 लाख 27 हजार से अधिक संक्रमित कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दिल्ली

32 दिनों से जारी विवाद का द एंड? राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट

Published

on

By

New Delhi: Sachin Pilot meets Rahul, Priyanka: राजस्थान के सियासी घमासान का आज 32वां दिन है. और सोमवार को मरुधरा के सियासी संकट में एक बार फिर नया मोड़ आया है. सचिन पायलट ने दिल्ली में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से मुलाकात की है. राहुल और पायलट के बीच बातचीत का ये क्रम तक़रीबन डेढ़ घंटे तक चला है.

राहुल संग पायलट के मुलाक़ात(Sachin Pilot meets Rahul) के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) भी मौजूद रही. इससे पहले सोमवार की सुबह से ही इस बात की हलचल तेज थी कि सचिन पायलट और अन्य बागी विधायक कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के साथ मुलाकात कर सकते है. बताया यह भी जा रहा है कि पायलट ने रविवार को एआईसीसी के किसी बड़े नेता से मुलाक़ात की थी. जिन्होंने राहुल संग उनकी बैठक को फिक्स कराया.

पार्टी सूत्र इस ताजा घटनाक्रम को लेकर बताते है कि फ़िलहाल पायलट की कांग्रेस में वापसी का फॉर्मूला तलाशा जा रहा है, लेकिन पार्टी ने दो टूक में स्पष्ट कर दिया है कि मुख्यमंत्री पद के बारे में फिलहाल कोई बात नहीं होगी. लिहाजा पायलट अगर लौटना चाहें तो एडजस्टमेंट के लिए कुछ समय इंतजार भी करना पड़ेगा.

सूत्र बताते है कि राहुल गाँधी से मुलकात में सचिन पायलट ने अपनी दलील रखी कि आखिर क्यों उन्हें बगावत का कदम उठाना पड़ा. बताया जा रहा है कि सचिन पायलट ने राहुल गाँधी से कहा कि वह कांग्रेस के खिलाफ नहीं थे, वो केवल सीएम गहलोत का विरोध कर रहे थे. गौर करने वाली बात यह है कि यह पूरा घटनाक्रम राजस्थान विधानसभा सत्र बुलाए जाने के पांच दिन पहले हुआ है. जहां अशोक गहलोत अपना बहुमत साबित करने का दावा कर रहे हैं.

इस सब के बीच पायलट खेमे के कुछ विधायकों को मनाने में कांग्रेस पार्टी कामयाब हो चुकी है. 14 अगस्त को राज्य में विधानसभा का सत्र बुलाया गया है. लेकिन इससे पहले मोटे तौर अपर यह साफ़ हो गया है कि फ़िलहाल कांग्रेस की सरकार सेफ जोन में है. और गहलोत सरकार पर मंडरा रहा खतरा टल गया है.

Continue Reading

दिल्ली

प्रदुषण पर लगाम के लिए CM केजरीवाल का एलान- इलेक्ट्रिक व्हीकल लेने पर इंसेंटिव, रोड फीस से भी मुक्ति

Published

on

By

  • प्रदुषण की समस्या से निजात पाने के लिए केजरीवाल सरकार का बड़ा एलान
  • नए इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद पर इंसेंटिव, रोड फ़ीस और टैक्स से भी मुक्ति
  • कार खरीदने पर 1.5 लाख तो ऑटो रिक्शा पर 30,000 तक का इंसेंटिव

राजधानी दिल्ली के लिए प्रदुषण एक बड़ी समस्या है. इस बात पर कोई दोराय नहीं है. लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद अब तक इस पर पूरी तरह से काबू नहीं पाया जा सका है. ऐसे में प्रदुषण पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने नई नीति के तहत इलेक्ट्रिक व्हीकल पर जोर देने का रूट चार्ट तैयार किया है. मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर खुद इसके बारे में जानकारी दी है.

सीएम केजरीवाल ने कहा कि अब नई इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी को नोटिफाई कर दिया गया है. दिल्ली सीएम ने कहा कि हमारे दो लक्ष्य हैं एक तो प्रदूषण को कम करना और अर्थव्यवस्था को बल देना. अगले पांच सालों में दिल्ली की इस नीति की दुनिया में चर्चा होगी.

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने नई इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि फिलहाल यह पॉलिसी अगले तीन साल के लिए है. उसके बाद इसकी समीक्षा करेंगे लेकिन उससे पहले भी कोई जरूरत पड़ी तो हम विचार करेंगे. सीएम ने कहा कि पिछले ढाई साल में हमने इस पॉलिसी पर खूब चर्चा की है, यह कोई AC कमरे में बैठकर अफसरों द्वारा बनाई गई पॉलिसी नहीं है.

दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि 2024 तक दिल्ली में जितने भी नए व्हीकल रजिस्टर होते हैं, उसके कम से कम 25 फीसदी इलेक्ट्रिक व्हीकल होने चाहिए. अभी ये सिर्फ 0.2 फीसदी हैं.

इलेक्ट्रिक वाहन के प्रति लोगो के रुझान बढ़ाने के लिए दिल्ली सीएम ने ऐलान किया कि दो पहिया इलेक्ट्रिक वाहन लेने पर सरकार से 30000 रुपये तक इंसेंटिव मिलेगा, जबकि कार लेने पर डेढ़ लाख रुपए तक का इंसेंटिव मिलेगा. इसके जरिए नौकरियां भी आएंगी, स्क्रैपिंग इंसेंटिव भी दिया जाएगा. यानी अपने पेट्रोल या डीजल वाले वाहन देकर इलेक्ट्रिक वाहन लेते हैं तो आपको इंसेंटिव मिलेगा.

यह भी पढ़े- ED के समन पर पूछताछ के लिए भाई संग ED दफ्तर पहुंची रिया चक्रवर्ती

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि आज केंद्र सरकार जो इंसेंटिव दे रही है यह उससे ज्यादा है. पूरी दिल्ली के अंदर बहुत बड़ा चार्जिंग स्टेशन का नेटवर्क बनाया जाएगा, अगले 1 साल में 200 चार्जिंग स्टेशन का नेटवर्क बनाने का लक्ष्य रखा गया है. साथ ही इलेक्ट्रिक कमर्शियल व्हीकल देने के लिए सरकार लोन वेवर भी देगी.

Continue Reading

दिल्ली

Unlock 3: LG अनिल बैजल ने केजरीवाल सरकार के दो बड़े फैसले ख़ारिज किये

Published

on

By

Unlock 3: राजधानी दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार और उपराज्यपाल अनिल बैजल अनलॉक-3 के मुद्दे पर एक बार फिर आमने-सामने आ गए है. उपराज्‍यपाल ने दिल्‍ली सरकार के अनलॉक-3 से जुड़े दो बड़े फैसलों को खारिज कर दिया है. ये फैसले होटल से जुड़े थे.

दरअसल, इससे पहले गुरुवार को अरविंद केजरीवाल सरकार ने Unlock 3 की घोषणा करते हुए दिल्ली में होटल खोलने और ट्रायल बेसिस पर एक हफ्ते के लिए साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति दी थी. लेकिन उपराज्यपाल अनिल बैजल ने केजरीवाल सरकार के इन दोनों ही फैसलों को खारिज कर दिया है.

हालाँकि, इससे पहले केंद्र सरकार की इजाज़त के बावजूद दिल्ली सरकार ने खोलने की इजाज़त नहीं दी थी. एलजी द्वारा फैसला खारिज किये जाने के बाद अब रेहड़ी पटरी लगाने के लिए भी कोई समय सीमा नहीं होगी. केजरीवाल सरकार द्वारा ट्रायल बेसिस पर साप्ताहिक बाजारों को एक हफ़्ते के लिए खोलने की मंजूरी देने का निर्णय लिया गया था जिसे उपराज्‍यपाल ने अब खारिज कर दिया है.

वहीं, उपराज्यपाल अनिल बैजल द्वारा दिल्‍ली सरकार के अनलॉक-3 से जुड़े दो बड़े फैसलों को खारिज करने के बाद आम आदमी पार्टी के तरफ से प्रतिक्रिया सामने आई है. बतौर रिपोर्ट्स, आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि अब केंद्र सरकार दिल्ली सरकार के अधिकार में दखल देना बंद करे. उन्होंने कहा, ‘केंद्र को दिल्ली सरकार को दुख देकर और दिल्ली सरकार को पीड़ा देकर सुख का अनुभव होता है. चुनी हुई दिल्ली सरकार के कामकाज में केंद्र दखल देना बंद करे.’

UP के गाजीपुर से लापता हुए कोरोना के 42 मरीज, फ़ोन नंबर और पता भी फर्जी निकला

उल्लेखनीय है कि इससे पहले उपराज्यपाल अनिल बैजल ने सीएम केजरीवाल के उस फैसले को खारिज किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली में रहने वाले कोरोना मरीजों का इलाज होगा. उपराज्यपाल बैजल ने संबंधित विभागों और प्रशासन को निर्देश दिया था कि दूसरे राज्य के किसी भी व्यक्ति को इलाज में दिक्कतों का सामना न करना पड़े, यह विभाग सुनिश्चित करें.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में अगर कोरोना संक्रमण की बात करें तो अब तक यहाँ कोरोना वासरस के एक लाख 34 हजार 403 मामले सामने आ चुके है. हालाँकि राहत की बात ये है कि इसमें एक लाख 19 हजार 724 मरीज ऐसे है जो इलाज के बाद पूरे तरीके से ठीक हो चुके है. और राजधानी में अब महज 10 हजार 743 एक्टिव मामले ही बचे हैं. जबकि इस जानलेवा वायरस की चपेट में आने से अब तक दिल्ली में 3936 लोगों की मौत हो चुकी है.

Continue Reading

दिल्ली

CM अरविंद केजरीवाल: स्कूल से निकले विद्यार्थी नौकरी तलाशने वाले नहीं, बल्कि नौकरी देने वाले बनें

Published

on

दिल्ली. अपने एक लाइव प्रोग्राम एंटरप्रेन्योर इंटरेक्शन कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एंटरप्रेन्योरशिप क्षेत्र में ख्याति प्राप्त अर्जुन मल्होत्रा से बातचीत की. इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी शिक्षा प्रणाली में और सुधार की जरूरत है ताकि हमारे बच्चे नौकरी देने वाले बने ना की नौकरी तलाशने वाले.

इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले सभी स्कूलों के प्रधानाचार्य और विद्यार्थियों के सवालों का अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal), मनीष सिसोदिया और अर्जुन मल्होत्रा ने जवाब दिया. जहां अरविंद केजरीवाल ने शिक्षा प्रणाली में सुधार की बात कही वहीं मनीष सिसोदिया ने भी अपना तर्क प्रस्तुत किया. उन्होंने कहा कि कोई भी भाषा सीखना एक स्किल है लेकिन हमें हमेशा अपनी मातृभाषा हिंदी पर गर्व होना चाहिए. हमें कभी भी हिंदी बोलने में शर्म नहीं आनी चाहिए.

आपको बता दें एंटरप्रेन्योर इंटरेक्शन कार्यक्रम पिछले डेढ़ साल से चल रहा है. इस कार्यक्रम में कई प्रतिष्ठित लोग बच्चों को संबोधित करने के लिए आते हैं लेकिन केजरीवाल ने पहली बार इस कार्यक्रम में भाग लिया है.

इंटरप्रेन्योर बन सकते हैं विद्यार्थी : अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री केजरीवाल (Arvind kejriwal) ने कहा कि हमारे देश के लोगों में एंटरप्रेन्योरशिप कूट-कूट कर भरी हुई है. एक रिक्शावाला, पानवाला सभी बुद्धिमान है. यह सभी एंटरप्रिन्योर हैं. लेकिन समस्या हमारी शिक्षा प्रणाली में है, इसमें बदलाव की जरूरत है. स्कूल, कॉलेज शिक्षा पूरी होते ही विद्यार्थी सबसे पहले नौकरी ढूंढने निकल पड़ते हैं. हमें इस माइंड सेट को बदलना होगा ताकि हमारे बच्चे नौकरी तलाशने वाले नहीं बल्कि नौकरी देने वाले बन सकें.

जब बच्चा स्कूल में होता है हमें उसी वक्त उसको उस दिशा में सोचने के लिए प्रेरित करना चाहिए कि आपको स्कूल से निकलने के बाद नौकरी नहीं ढूंढनी है बल्कि आपको अपना कुछ नया काम करने की सोचना है. दिल्ली के स्कूलों में बच्चों को एंटरप्रेन्योरशिप की ट्रेनिंग दी जा रही हैं.

हिंदी बोलने में झिझक नहीं : मनीष सिसोदिया विद केजरीवाल

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish sisodiya) ने कहा कि किसी भी भाषा को सीखना एक स्किल है. लेकिन अपनी मातृभाषा पर हमें हमेशा गर्व होना चाहिए. कई लोग सोचते हैं कि मुझे अच्छी अंग्रेजी नहीं आती तो मैं शायद इतना अच्छा आदमी नहीं बन पाऊंगा लेकिन ऐसा नहीं है.
सिसोदिया ने बताया कि जब हमने आईआईटी में चयनित छात्रों से बात की तब उन्होंने बताया कि सरकार ने साइंस को लेकर बहुत अच्छा काम किया है लेकिन अब विद्यार्थियों को अंग्रेजी सिखाने के लिए भी कुछ काम करना होगा. यही एक बड़ा कारण था जिसके बाद हम लोगों को अंग्रेजी पर जोड़ देना पड़ा.

Continue Reading

दिल्ली

प्रियंका गाँधी ने केंद्र सरकार की तय डेडलाइन से पहले ही खाली किया लोधी एस्टेट बंगला

Published

on

By

कांग्रेस की राष्ट्रीय महसचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi vadra) ने नई दिल्ली स्थित अपने सरकारी आवास को केंद्र सरकार की ओर से तय डेडलाइन से पहले ही खाली कर दिया है. दिल्ली के लोधी एस्टेट इलाके में स्थित इस आवास(Lodhi Estate Bungalow) को खाली करने के लिए प्रियंका गांधी को एक महीने की मोहलत दी गई थी. जो 1 अगस्त को पूरी हो रही थी. लेकिन अब इससे पहले ही प्रियंका गाँधी ने इस सरकारी आवास को छोड़ दिया है.

उल्लेखनीय है कि गृह मंत्रालय द्वारा कांग्रेस नेता को मिले SPG सुरक्षा को वापस लेने के बाद आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने उन्हें यह बंगला खाली करने का नोटिस भेजा था. प्रियंका गाँधी ने जिस सरकारी बंगले को खाली किया है. वह राजधानी दिल्ली स्थित 35, लोधी एस्टेट के नाम से जाना जाता है. बता दें कि कांग्रेस महासचिव के इस बंगले को खाली करने के बाद बीजेपी के राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी को यह आवंटित किया गया है.

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के सूत्रों की माने तो कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, मध्य दिल्ली में अपने नए घर में जाने से पहले कुछ दिनों के लिए गुड़गांव पेंटहाउस में रहेंगी. फ़िलहाल राष्ट्रीय राजधानी में उनके नए घर का रंगाई-पुताई और मरम्मत का काम चल रहा है. और जब यह संपन्न हो जायेगा तब कांग्रेस नेता वापस दिल्ली आ जाएँगी.

बताते चले कि प्रियंका गाँधी ने यह सरकारी आवास छोड़ने से पहले BJP नेता अनिल बलूनी (Anil Baluni) जिनको यह बंगला आवंटित किया गया है, को पत्नी के साथ चाय पर आमंत्रित किया था. खुद प्रियंका गाँधी ने इस बात की जानकारी भी दी थी. लेकिन भाजपा सांसद बलूनी अपने ख़राब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए फ़ोन पर बातचीत के दौरान प्रियंका गाँधी के न्योते को अस्वीकार कर दिया. इसके बदले बलूनी ने अपने स्वास्थ्य ठीक होने के बाद प्रियंका गाँधी को परिवार सहित भोजन पर आमंत्रण दिया है.

यह भी पढ़ें: डॉ कफील खान की रिहाई के लिए प्रियंका गाँधी ने सीएम योगी को लिखा ख़त

Continue Reading

दिल्ली

Delhi Diesel VAT Rate Cut: दिल्ली में 8.36 रुपये तक घटे डीजल के दाम, केजरीवाल सरकार का ऐलान

Published

on

By

Delhi Diesel VAT Rate Cut: कोरोना काल के बीच राजधानी दिल्ली में रहने वाले लोगो को अरविंद केजरीवाल सरकार (Delhi Government) ने बड़ी राहत दी है. दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने राजधानी में डीज़ल पर लगने वाले VAT (value added tax) में अब तक की सबसे बड़ी कटौती की है. केजरीवाल सरकार ने गुरुवार को हुई कैबिनेट मीटिंग में यह बड़ा फैसला लिया है, जिससे राजधानी दिल्ली में डीज़ल के दाम 8.36 रुपए प्रति लीटर तक घट गए है.

गुरुवार को खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में डीजल के दामों में अब तक के सबसे बड़ी कटौती(Delhi Diesel VAT Rate Cut) के फैसले की जानकारी दी. सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अभी 82 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से डीजल बिक रहा है, अब 30 फीसदी से घटाकर 16 फीसदी वैट कर दिया गया है. इससे अब डीजल के दाम 8 रुपये तक कम होंगे, डीजल अब 73.64 पैसे का मिलेगा.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद ने डीजल के दामों में अब तक के सबसे बड़ी कटौती का ऐलान करते हुए कहा कि दिल्ली की अर्थव्यवस्था को मजबूती देने और आम लोगों को महंगाई से बचाने के लिए आम आदमी पार्टी की सरकार ने यह कदम उठाया है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि लगातार कारोबारियों और फैक्ट्री वालों ने उनसे इस बात की अपील की थी, ऐसे में अब सरकार की ओर से ये राहत दी जा रही है ताकि दिल्ली में कामकाज शुरू हो सके.

दिल्ली सरकार के इस फैसले के बाद राज्य में डीज़ल पर लगने वाले 30% वैट घटकर अब 16.75% रह जायेगा. जिससे कि अब दिल्ली में डीजल 73.64 रुपए प्रति लीटर होगा. जो अब तक 81.94 रुपए प्रति लीटर था. उल्लेखनीय है कि कोरोना संकट के बिच देश में दो हफ्ते से अधिक दिनों तक लगातार पेट्रोल और डीजल के दामों में इजाफा हुआ था. जिसको लेकर विपक्षी पार्टियों ने केंद्र की मोदी सरकार पर खूब निशाना भी साधा था.

यह भी पढ़ें: कोरोना पर समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य सचिव पर भड़के CM नीतीश, कहा- ‘अगर कोरोना नहीं संभलता तो….’

Continue Reading

पार्टी पद देती है, ले भी सकती है: कांग्रेस से सुलह के बाद पहली बार बोले पायलट

पायलट की शिकायतों को दूर करने के लिए बनी 3 सदस्यीय कमेटी, प्रियंका भी शामिल

संजय दत्त को दो दिन बाद मिली अस्पताल से छुट्टी – सांस लेने में तकलीफ के चलते हुए थे भर्ती

Sushant Case : 10 घंटे की पूछताछ के बाद ईडी ऑफिस से बाहर निकली रिया

एक्टर पूजा जोशी ने किया समीर शर्मा को याद, कहा अकेले रहना ठीक नही..

देर-सबेर गहलोत की कुर्सी जानी तय, पर पायलट को भी नहीं मिलेगी, ये है फार्मूला

राहुल संग पायलट मुलाक़ात पर बोली BJP- अच्छा हुआ, हमारा होटल का खर्चा बच गया

CM गहलोत से मिले पायलट कैंप के विधायक, बोले- नाराजगी दूर हो गई, सरकार सेफ

शरीर के ज़िद्दी फेट को करना दूर है?आज ही घर पर बनाएं यह आसान ड्रिंक …

32 दिनों से जारी विवाद का द एंड? राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट

बॉलीवुड1 day ago

संजय राउत ने कहा- अंकिता और सुशांत का क्यों हुआ ब्रेकअप, इसकी भी हो जांच

बॉलीवुड2 days ago

Sushant Singh Case: फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी का पकड़ा गया सबसे बड़ा झूठ, सुसाइड से पहले सुशांत सिंह….

बॉलीवुड3 weeks ago

Sushant Singh Rajput को न्याय दिलाने के लिए शुरू हुआ डिजिटल प्रोटेस्ट

राजनीति1 week ago

राजस्थान ब्रेकिंग: विधायकों के खरीद फरोख्त से जुड़ी ऑडियो FSL जांच में सही पाई गई

फिल्म रिव्यु2 weeks ago

Dil Bechara movie Review: जिंदगी को दिल खोलकर जीना सिखाती है सुशांत की आखिरी फिल्म

बॉलीवुड4 days ago

सुशांत सिंह राजपूत मामले में सूरज पंचोली ने तोड़ी चुप्पी, किया सच का खुलासा ..

उत्तर प्रदेश1 week ago

UP के बुलंदशहर में 25 जुलाई से लापता वकील की मिली लाश, प्रियंका बोलीं- UP में क्राइम-कोरोना कंट्रोल से बाहर

बॉलीवुड1 day ago

सुशांत सिंह राजपूत ने रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती के अकाउंट में ट्रांसफर किये थे कई लाख रुपए

मनोरंजन5 days ago

रिया के राज जान चुका था सुशांत का परिवार ! नई चैट वायरल

बॉलीवुड4 days ago

सुशांत को पागल साबित कर मेंटल हॉस्पिटल भेजना चाहती थी रिया – रिया की कॉल डिटेल्स से हुआ खुलासा

ट्रेंडिंग न्यूज़