टेक ज्ञान

Breaking News: TikTok समेत 59 ऐप्स के बाद गूगल ने फिर बैन किए 25 ऐप्स, यहां देखिए पूरी लिस्ट

Published

on

बीते 29 जून को केंद्र सरकार द्वारा टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स के बैन करने के बाद गूगल ने अपने प्ले स्टोर से 25 और ऐप्स को पूरी तरह से बैन कर दिया है। इन सभी ऐप्स को यूजर्स के सिक्युरिटी और प्राइवेसी कंसर्न को देखते हुए प्रतिबंध किया गया है। जैसा कि आप जानते हैं कि केन्द्र की मोदी सरकार (PM Narendra Modi) ने 59 चीनी ऐप्स को भारतीय यूजर्स के निजी डाटा प्राइवेसी के हनन को ध्यान में रखते हुए प्रतिबंध करने का आदेश दिया था। जिसके बाद इन सभी ऐप्स को गूगल और Apple के ऐप स्टोर्स से हटा दिए गए हैं। इनमें से अधिकतर यूटिलिटी ऐप्स हैं, जिनको यूजर्स अपने फन के लिए फोन में डाउनलोड करते हैं।

गूगल ने अपने प्ले स्टोर (Google Play Store) से इन सभी ऐप को प्रतिबंध करते हुए जानकारी दी है कि इन ऐप्स से यूजर्स को सिक्युरिटी और और प्राइवेसी का खतरा था क्योंकि इन सभी ऐप्स में भारी मात्रा में विज्ञापन (Advertisements) दिए गए हैं, जो यूजर्स के उनके निजी डाटा (Private Data) के लिए परमिशन मांगते हैं। बता दें कि इससे पहले भी गूगल अपने प्ले स्टोर से कई ऐप्स को पूरी तरह से बैन कर चुका है। इन ऐप्स में वॉलपेपर ऐप्स, वीडियो एडिटिंग ऐप, फाइल मैनेजर और गेमिंग ऐप्स (Gaming Apps) भी शामिल हैं। इससे पहले भी ऐसी खबरें सामने आई थी, जिसमें भारतीय जवानों (Indian Army) द्वारा कुल 89 ऐ्प्स को बैन करने की जानकारी सामने आई है।

इन 25 ऐप्स को किया गया बैन-

  • Super Wallpapers Flashlight
  • Padenatef
  • Wallpaper Level
  • Contour level wallpaper
  • Iplayer & iwallpaper
  • Video maker
  • Color Wallpapers
  • Pedometer
  • Powerful Flashlight
  • Super Bright Flashlight
  • Super Flashlight
  • Solitaire
  • Accurate scanning of QR code
  • Classic card game
  • Junk file cleaning
  • Synthetic Z
  • File Manager
  • Composite Z
  • Screenshot capture
  • Daily Horoscope Wallpapers
  • Wuxia Reader
  • Plus Weather
  • Anime Live Wallpaper
  • iHealth step counter
  • tyapp.fiction

बता दें कि, इन सभी ऐप्स को बैन करते हुए गूगल ने यूजर्स को चेतावनी दी है कि इन्हें अपने फोन में डाउनलोड न करें। अगर, आपने इन ऐप्स को पहले से इंस्टॉल या डाउनलोड किया है तो उसे तुरंत डिलीट कर दें।

ऐप्स न्यूज़

Whatsapp के मल्टी डिवाइस फीचर की जानकारी आई सामने, एक साथ कई डिवाइस में कर सकेंगे चैट

Published

on

Whatsapp सोशल नेटवर्किंग ऐप में लगातार नए फीचर्स जोड़े जाते रहे हैं। Facebook की स्वामित्व वाले इस मैसेजिंग ऐप में अब एक और नया फीचर जुड़ने वाला है। यूजर्स काफी लंबे अर्से से इस फीचर की डिमांड कर रहे थे। Whatsapp के इस नए फीचर की मदद से आप एक ही अकाउंट को एक साथ कई डिवाइस में चला सकेंगे। WABetaInfo की रिपोर्ट के मुताबिक, इस अपकमिंग फीचर को हाल ही में बीटा वर्जन में स्पॉट किया गया है। WABetaInfo ने अपने ट्विटर हैंडल से इस फीचर के कई स्क्रीनशॉ्टस शेयर किए हैं। जिनमें इस फीचर के बारे में जानकारी दी गई है।

काफी समय से चल रहा है काम

Whatsapp पिछले कुछ महीनों से अपने इस फीचर पर काम कर रहा है। इस साल की शुरुआत से ही इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप के इस फीचर के बारे में जानकारियां सामने आ रही हैं। इस फीचर के रोल आउट हो जाने के बाद यूजर्स एक ही Whatsapp अकाउंट को अपने कई डिवाइसेज में एक्सेस कर सकेंगे। पिछले दिनों आई रिपोर्ट के मुताबिक, इस फीचर की मदद से यूजर्स एक ही अकाउंट को एक साथ चार डिवाइसेज में इस्तेमाल कर सकेंगे।

मैसेंजर रूम पिछले दिनों हुआ रोल आउट

इस समय भारत में करीब 40 करोड़ Whatsapp यूजर्स हैं। पूरी दुनिया की बात करें तो इस लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म के करीब 200 करोड़ से ज्यादा मंथली एक्टिव यूजर्स हैं। Facebook ने हाल ही में अपने इस इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप के लिए नए Messenger Rooms फीचर को जोड़ा है। इस फीचर के जरिए यूजर्स Whatsapp, Facebook, Messenger को एक साथ एक्सेस कर सकते हैं। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग फीचर के जरिए यूजर एक बार में 49 लोगों के साथ कनेक्ट हो सकेंगे।

अन्य वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप्स जैसे कि Zoom, Jio Meet, Google Meet आदि को इस फीचर के जरिए चुनौती मिल सकती है। Whatsapp इसके अलावा कई और नए फीचर्स पर काम कर रहा है। इन फीचर में सेल्फ डिस्ट्रक्टिंग मैसेज, Whatsapp Web के लिए डार्क मोड सपोर्ट जैसे फीचर्स शामिल हैं। इन फीचर्स को कंपनी iOS और Android दोनों यूजर्स के लिए रोल आउट कर सकती है।

Continue Reading

टेक ज्ञान

चीनी कंपनियों को पीछे छोड़ सैमसंग मोबाइल फोन मार्केट में बनी नंबर-1

Published

on

इंटरनेशनल डेटा कॉर्पोरेशन ने भारतीय स्मार्टफोन बाजार के साल-दर-साल के ताजा आंकड़े जारी करते हुए दावा किया है कि साल की दूसरी तिमाही में शिपमेंट में 50.06% यानी करीब 1.82 करोड़ की गिरावट आई है, क्योंकि इस दौरान देश में लॉकडाउन था। साल की दूसरी तिमाही में फीचर फोन के शिपमेंट में 69% यानी करीब एक करोड़ तक की गिरावट आई है। इस दौरान कंपनियों का ओवरऑल मोबाइल मार्किट में 35.5 पर्सेंट का कब्जा रहा। हालाकि इस सेगमेंट के लिए ये सबसे कम है।

samsung sales

सैमसंग के फीचर फोन की बिक्री उसके स्मार्टफोन की बिक्री से ज्यादा रही है। कंपनी फीचर फोन सेगमेंट के मार्केट में 24 परसेंट की हिस्सेदारी के साथ सबसे आगे रही है और उसने चीनी कंपनी शाओमी और वीवो को पीछे छोड़ दिया है। हालांकि स्मार्टफोन बाजार में शाओमी 29.4% की बाजार हिस्सेदारी के साथ पहले नंबर पर बनी हुई है। पिछले साल उसकी हिस्सेदारी 28.4% थी। सैमसंग पिछले साल के 25.2% की तुलना में 26.3% के साथ दूसरे स्थान पर पहुंचने में कामयाब रही है।

Read also: ट्विटर पर Paytm का नाम हुआ Binod- जानिए क्या है वजह ?

इसके बाद वीवो, रियलमी और ओप्पो को स्थान मिला है। हालांकि सभी कंपनियों के मार्केट शेयर में गिरावट आई है। शाओमी ने 48.7% की गिरावट के साथ साल के दूसरे कोटे में करीब 54 लाख यूनिट की शिपमेंट की है। इस दौरान टॉप फाइव मॉडल में से चार शाओमी के थे। जिनमें रेडमी नोट 8A डुअल, नोट 8, नोट 9 प्रो और रेडमी 8 शामिल रहे। सैमसंग ने 2020 के दूसरे क्वार्टर में करीब 40 लाख यूनिट का शिपमेंट किया।

Read also: Netflix अब हिन्दी में उपल्बध, यूजर्स के लिए हिंदी इंटरफेस लॉन्च

कंपनी के शिपमेंट में साल-दर-साल 48.5% की गिरावट रही है। हालांकि इसके बाद भी कंपनी वीवो से आगे निकलने में कामयाब रही है। सैमसंग का गैलेक्सी M21 इस दौरान शिपमेंट होने वाले टॉप मॉडल में शामिल रहा है। दक्षिण कोरिया कंपनी 22.8% हिस्सेदारी के साथ ऑनलाइन में दूसरे स्थान पर रही है। वीवो 32 लाख यूनिट के साथ तीसरे स्थान पर आ गया है। उसकी साल-दर-साल में 42.9% की गिरावट रही हैं। रियलमी के शिपमेंट में 37% की गिरावट रही है।

Continue Reading

टेक ज्ञान

ट्विटर पर Paytm का नाम हुआ Binod- जानिए क्या है वजह ?

Published

on

ट्विटर पर आये दिन कुछ न कुछ ट्रेंड होता रहता है। हाल में टट्विटर पर ‘बिनोद’ काफी ट्रेंड कर रहा है। ट्विटर यूजर ‘बिनोद’ की तलाश में हैं। अब इस तलाश में जानीमानी इंडियन ई-कॉमर्स पेमेंट सिस्टम कंपनी यानि पेटीएम (Paytm) भी शामिल हो गयी है।

दरअसल गब्बर सिंह नाम के एक ट्विटर यूजर के अकाउंट से पेटीएम को चैलेंज दिया गया। वह चैलेंज यह था कि ‘बिनोद’ के इस ट्रेंड में पेटीएम भी अपने ट्विटर अकाउंट का नाम बदल कर ‘बिनोद’ रख ले। फिर क्या था पेटीएम भी इस ट्रेंड में ढलने में पीछे नहीं हटा। पेटीएम ने गब्बर सिंह का चैलेंज स्वीकारते हुए अपने ट्विटर अकाउंट का नाम ‘बिनोद’ रख दिया। साथ ही पेटीएम ने गब्बर सिंह का चैलेंज पूरा करते हुए डन (done) भी लिखा।

इसके बाद से ‘बिनोद’ के साथ-साथ इंडियन ई-कॉमर्स पेमेंट सिस्टम कंपनी पेटीएम भी ट्विटर पर ट्रेंड करने लगी। ट्विटर यूजर पेटीएम के ‘बिनोद’ बनने पर लगातार अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

क्या है Binod ट्रेंड ?

#binod यह ट्रेंड सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। सोशल मीडिया पर ऐसे कई लोग हैं जो इस ट्रेंड को लेकर कंफ्यूज हैं। बहुत से लोगों को नहीं पता आखिर ये ‘बिनोद’ है क्या ? ट्विटर पर तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो ‘बिनोद’ नाम ट्रेंड होने का कारण जाने बिना ही इस पर ट्वीट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। दरअसल यह सिलसिला यूट्यूब से शुरू हुआ। यूट्यूब पर स्ले प्वाइंट (Slayy Point) नाम का यूट्यूब चैनल है। जोकि आदतों का मजाक बनाना रोस्ट करना मज़ाकिया सवाल पूछना इस तरीके की वीडियो अपने यूट्यूब चैनल पर बनता है। हाल ही में स्ले प्वाइंट यूट्यूब चैनल ने एक वीडियो बनाया जिसका टाइटल Why indian comment section is garbage दिया। इस वीडियो में बताया गया कि कैसे लोग किसी भी वीडियो के कमेंट सेक्शन में कुछ भी लिख देते हैं। इस वीडियो में Binod Tharu नाम के एक आदमी का कमेंट दिखाया। बिनोद नाम के इस ने आदमी कमेंट सेक्शन में बस अपना नाम Binod लिख दिया जिसको सात लोगों ने लाइक भी किया। इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर लोग बिनोद नाम पर मजाक उड़ा रहे हैं। तब से ही बिनोद ट्रेंड होने लगा। #binod पर अब तक 50k से ज्यादा ट्वीट किये जा चुके हैं।

मुंबई पुलिस ने दी ‘बिनोद’ को सलाह

‘बिनोद’ ट्रेंड को फॉलो करने में मुंबई पुलिस भी पीछे नहीं रही। मुंबई पुलिस ने बिनोद को टट्वीट कर सलाह दी अगर बिनोद का ऑनलाइन पॉसवर्ड भी बिनोद है तो उसे बदल दे क्योंकि अब से यह नाम वायरल हो गया है। बता दें मुंबई पुलिस सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती है। साथ ही मुंबई पुलिस सभी ट्रेंडिंग मुद्दों पर ट्वीट करती रहती है।

Continue Reading

टेक ज्ञान

Netflix अब हिन्दी में उपल्बध, यूजर्स के लिए हिंदी इंटरफेस लॉन्च

Published

on

भारत में अपने लॉन्च होने के साढ़े चार साल बाद, Netflix ने यूज़र्स के लिए हिन्दी इंटरफेस की घोषणा की है। ये सुविधा मोबाइल, कंप्यूटर और टीवी पर उपलब्ध होगी। अब आप हिंदी भाषा में साइन अप, सर्च और पेमेंट कर पाएंगे। हिन्दी इंटरफेस को पाने के लिए आपको Netflix वेबसाइट पर मैनेज प्रोफाइल पर जाकर भाषा के तहत हिंदी में स्विच करना होगा। भाषा सेटिंग्स हर प्रोफ़ाइल की अलग अलग सेट कर सकतें हैं, इसलिए आपको Netflix पर अन्य सदस्यों के प्रभावित होने की चिंता करने की ज़रूरत नहीं है।

Netflix India की कंटेंट वीपी मोनिका शेरगिल ने कहा, “एक बेहतरीन Netflix का अनुभव देना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। “हमारा मानना ​​है कि नया यूजर इंटरफेस हिंदी पसंद करने वाले यूज़र्स के लिए Netflix को और अधिक सुलभ और बेहतर बनाएगा।” Netflix का हिंदी-भाषा इंटरफ़ेस भारत में सदस्यों तक सीमित नहीं होगा, बल्कि दुनिया भर में उपलब्ध होगी। Netflix लगातार भारत में अपना यूज़र बेस बढ़ाने के लिए काम कर रहा है और ये नया इंटरफेस भी उसी का एक हिस्सा है

हिंदी भारतीय द्वारा सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली भाषा है और ये देखा गया है कि हिन्दी में रिलीज़ हुई फिल्में जैसे सेक्रेड गेम्स, दिल्ली क्राइम और चोक काफी लोकप्रीय हुई थी।

Netflix ने आने वाले दिनों में 17 भारतीय प्रोडक्ट की घोषणा की है जिसमें लूडो, अ सूटेबल बॉय और गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल जैसा कई और फिल्में शामिल है। Netflix लगातार भारतीय यूजर्स के लिए अपनी सर्विसों को आसान करने की कोशिश कर रहा है। पिछले साल नेटफ्लिक्स ने भारत में 199 रुपए प्रति माह का मोबाइल प्लान पेश किया था।

Continue Reading

टेक ज्ञान

इंडिया हेड मनु जैन का दावा: अब से शाओमी के फोन में नहीं होंगे प्री-लोडेड चाइनीज एप

Published

on

स्मार्टफोन निर्माता कंपनी शाओमी (xiaomi) अपने एमआईयूआई सॉफ्टवेयर के नए वर्जन पर काम कर रही है। भारत सरकार द्वारा चीनी ऐप प्रतिबंधित करने के बाद शाओमी इस सॉफ्टवेयर को बना रही है। शाओमी (xiaomi) के इंडिया हेड मनु जैन (manu Jain) ने हाल ही में एक ट्वीट के जरिए जानकारी दी कि कंपनी चीनी ऐप पर भारतीय प्रतिबंधों का अनुपालन कर रही है। मनु जैन ने अपने ट्वीट में स्पष्ट किया कि भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित किए गए किसी भी ऐप को शाओमी के डिवाइस में एक्सेस नहीं दिया जा रहा है।

मनु जैन ने साफ किया कि हम ऐसा एमआईयूआई सॉफ्टवेयर बना रहे हैं। जिससे कोई भी प्रतिबंधित Chinese एप डिवाइस में पहले से ही इंस्टॉल नहीं होगा। गौरतलब है कि एमआईयूआई एक ऑपरेटिंग सिस्टम है, जिस पर शाओमी के सभी स्मार्टफोन चलते हैं।

यह भी पढ़े :- गूगल ने चीन के 2500 यूट्यूब चैनल डिलीट किए, भ्रामक सूचना फैलाने का आरोप

मनु जैन ने आगे कहा कि शाओमी 2018 से ही Indian users का डाटा देश में ही store कर रही है और आगे भी देश में ही Indian users का डाटा स्टोर होगा। गौरतलब है कि भारत सरकार ने चीनी एप्लीकेशंस को प्रतिबंधित करते वक्त तर्क दिया था कि चाइनीज ऐप के जरिए भारतीय डाटा चुराया जा रहा है। ऐसे में शाओमी के इंडिया हेड मनु जैन का इंडियन यूजर्स का डाटा भारत में स्टोर करने वाला बयान काफी मायने रखता है।

यह भी पढ़े :- चीन को ट्रंप का बड़ा झटका, अमेरिका में चाइनीज ऐप पर रोक को दी गई मंजूरी

अपनी बातचीत में मनु जैन ने डाटा के संबंध में दावा किया कि कभी भी कोई भी डाटा देश से बाहर शेयर नहीं किया गया है। जो लोग कंपनी के एप्लीकेशंस और बैन को लेकर गलत सूचना फैला रहे हैं, कंपनी उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का पूर्ण अधिकार रखती है।

उल्लेखनीय है कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valleyxiaomi) में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ विवाद के बीच भारत सरकार ने चीन की कंपनियों से जुड़े कुल 106 एप्लीकेशन पर प्रतिबंध लगा दिया था। भारत सरकार ने शाओमी के एमआई ब्राउज़र और एमआई कम्युनिटी ऐप जैसे एप्लीकेशंस पर भी बैन लगा दिया था। कथित डाटा चोरी के संभावनाओं के बीच भारत सरकार ने प्रतिबंधित एप्लीकेशन से इस पर सफाई मांगी थी। अन्य प्रतिबंधित ऐप्स की तरह शाओमी ने भी भारत सरकार की ओर से भेजे गए 77 सवालों के जवाब दे दिए हैं। अब कंपनी को सरकार की तरफ से व्यक्तिगत सुनवाई का इंतजार है।

Continue Reading

टेक ज्ञान

चीन को ट्रंप का बड़ा झटका, अमेरिका में चाइनीज ऐप पर रोक को दी गई मंजूरी

Published

on

भारत के बाद अमेरिका ने भी चाइनीज एप टिक टॉक को बैन (tiktok banned) करने का फैसला किया गया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टिक टॉक की मूल कंपनी बाइटडांस पर बैन के आदेश को मंजूरी दे दी है. चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध आदेश पर हस्ताक्षर किए जाने के 45 दिन बाद लागू होगा. चीन की बाइटडांस कंपनी के साथ अमेरिकी लेनदेन पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के द्वारा की गई है. इस घोषणा के बाद चीन की बाइटडांस कंपनी और इससे जुड़ी कंपनियों के साथ सभी प्रकार के लेनदेन पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है.

डोनाल्ड ट्रंप ने इमरजेंसी इक्नॉमी पावर एक्ट के तहत यह आर्डर पास किया है यह प्रशासन को अमेरिकी नागरिकों द्वारा बार-बार व्यापार करने या स्वीकृत पक्ष के साथ वित्तीय लेनदेन की शक्ति प्रदान करता है. आदेश के मुताबिक अमेरिका का डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी, ट्रांसपोर्टेशन सिक्योरिटी, एडमिनिस्ट्रेशन में चाइनीस ऐप टिक टॉक का इस्तेमाल पहले ही बंद हो चुका है.


आपको बता दें टिक टॉक के साथ चाइनीज (Chinese apps banned) ऐप वीचैट को भी बैन किया गया है. अमेरिकी राष्ट्रपति का कहना है कि चाइनीस ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति, इकनोमिक के लिए खतरा बन चुके हैं. ट्रंप का आरोप है कि टिक टोक की मदद से चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को अमेरिका के लोगों की जिंदगी में दखलअंदाजी करने का मौका मिल रहा है. जिससे वह अमेरिकी कर्मचारियों को पर्सनल इंफॉर्मेशन के आधार पर ब्लैकमेल करते हैं और बिजनेस से जुड़ी जासूसी कर रहे हैं.

अमेरिका की एक टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट टिक टॉक के अमेरिकी बिजनेस को खरीदने के लिए प्लानिंग कर रही है. अगर टिक टॉक यह भी करना चाहे तो अब उसे डेढ़ महीने में सौदा पूरा करना होगा. लेकिन अभी तक माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की तरफ से इस बात पर कोई बयान नहीं दिया गया है कि वह यूजर के डाटा की सेफ्टी के लिए क्या कदम उठाएंगे. अमेरिका से पहले भारत भी चाइनीस ऐप के खिलाफ डिजिटल स्ट्राइक कर चुका है. भारत के द्वारा 59 चाइनीस ऐप को बैन किया गया है.

Continue Reading

पार्टी पद देती है, ले भी सकती है: कांग्रेस से सुलह के बाद पहली बार बोले पायलट

पायलट की शिकायतों को दूर करने के लिए बनी 3 सदस्यीय कमेटी, प्रियंका भी शामिल

संजय दत्त को दो दिन बाद मिली अस्पताल से छुट्टी – सांस लेने में तकलीफ के चलते हुए थे भर्ती

Sushant Case : 10 घंटे की पूछताछ के बाद ईडी ऑफिस से बाहर निकली रिया

एक्टर पूजा जोशी ने किया समीर शर्मा को याद, कहा अकेले रहना ठीक नही..

देर-सबेर गहलोत की कुर्सी जानी तय, पर पायलट को भी नहीं मिलेगी, ये है फार्मूला

राहुल संग पायलट मुलाक़ात पर बोली BJP- अच्छा हुआ, हमारा होटल का खर्चा बच गया

CM गहलोत से मिले पायलट कैंप के विधायक, बोले- नाराजगी दूर हो गई, सरकार सेफ

शरीर के ज़िद्दी फेट को करना दूर है?आज ही घर पर बनाएं यह आसान ड्रिंक …

32 दिनों से जारी विवाद का द एंड? राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट

बॉलीवुड1 day ago

संजय राउत ने कहा- अंकिता और सुशांत का क्यों हुआ ब्रेकअप, इसकी भी हो जांच

बॉलीवुड2 days ago

Sushant Singh Case: फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी का पकड़ा गया सबसे बड़ा झूठ, सुसाइड से पहले सुशांत सिंह….

बॉलीवुड3 weeks ago

Sushant Singh Rajput को न्याय दिलाने के लिए शुरू हुआ डिजिटल प्रोटेस्ट

राजनीति1 week ago

राजस्थान ब्रेकिंग: विधायकों के खरीद फरोख्त से जुड़ी ऑडियो FSL जांच में सही पाई गई

फिल्म रिव्यु2 weeks ago

Dil Bechara movie Review: जिंदगी को दिल खोलकर जीना सिखाती है सुशांत की आखिरी फिल्म

बॉलीवुड4 days ago

सुशांत सिंह राजपूत मामले में सूरज पंचोली ने तोड़ी चुप्पी, किया सच का खुलासा ..

उत्तर प्रदेश1 week ago

UP के बुलंदशहर में 25 जुलाई से लापता वकील की मिली लाश, प्रियंका बोलीं- UP में क्राइम-कोरोना कंट्रोल से बाहर

बॉलीवुड1 day ago

सुशांत सिंह राजपूत ने रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती के अकाउंट में ट्रांसफर किये थे कई लाख रुपए

मनोरंजन5 days ago

रिया के राज जान चुका था सुशांत का परिवार ! नई चैट वायरल

बॉलीवुड4 days ago

सुशांत को पागल साबित कर मेंटल हॉस्पिटल भेजना चाहती थी रिया – रिया की कॉल डिटेल्स से हुआ खुलासा

ट्रेंडिंग न्यूज़